मानवाधिकारों के उल्लंघन बिना कर रहे कार्रवाई की कोशिशः सेना प्रमुख

0
112

कश्मीर के ताजा हालातों को लेकर सेना प्रमुख बिपिन रावत ने कहा है कि हमें लोगों के मानवाधिकारों की परवाह है और हम उनका उल्लंघन किए बिना कार्रवाई सुनिश्चित कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि कश्मीर को लेकर गलत तस्वीर पेश की जा रही है। पूरे कश्मीर में ऐसे हालात नहीं है। दक्षिण कश्मीर में स्थिति कुछ बिगड़ी है लेकिन उसे भी काबू में करने की कोशिश की जा रही है।

http://www.3pgroup.it/?dissertation-abstracts-purchase उन्होंने कहा कि राज्य में लोगों के बीच कुछ गलत जानकारी फैला कर यवा पीढ़ी को हथियार उठाने के लिए मजबूर करने का प्रयास किया जा रहा है। सेना प्रमुख ने तेलंगाना स्थित एयर फोर्स अकेडमी में गार्ड ऑफ ऑनर देने के बाद मीडिया से ये बातें कहीं।

go to link सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत ने जम्मू कश्मीर में सेना के मानवाधिकार उल्लंघन के मसले पर कहा कि सेना की ओर से मानवाधिकार का उल्लंघन नहीं किया जायेगा, सेना मानव जीवन की रक्षा के लिए तत्पर है। जनरल बिपिन रावत ने जम्मू कश्मीर में युवाओं की ओर से की जाने वाली पत्थरबाजी की घटनाओं के जवाब में कहा कि ऐसी स्थित का सामना करने के लिए सेना के जवान प्रशिक्षित हैं।

गौरतलब है कि जम्मू कश्मीर में कल हुए आतंकी हमले में छह पुलिसकर्मी मारे गए। दक्षिण कश्मीर के अनंतनाग जिले में आतंकियों की ओर से घात लगाकर हमला उस वक्त किया गया, जब पुलिसकर्मी ड्यूटी से वापस शाम सात बजे लौट रहे थे। सेना ने कुलगाम के अरवानी में कल ही तीन लश्कर आतंकी जुनैद मट्टू समेत तीन आतंकियों को मार गिराया था। माना जा रहा कि इसी के जवाब में आतंकियों ने पुलिसकर्मियों पर हमला किया।

source हालांकि जम्मू कश्मीर में कल की सेना की कार्रवाई के दौरान स्थानीय लोगों की ओर से सुरक्षाबलों पर पत्थरबाजी की गयी। राज्य से आज भी सीआरपीएफ कैंप पर हमले की खबर आ रही है। कश्मीर में जारी आतंकवादियों और पत्थरबाजी की घटनाएं रोजाना की बात हो गयी है। सैन्य कैंपों पर आतंकी हमले की घटनाओं के मद्देनजर पिछले दिनों सीआरपीफ महानिदेशक राजीव राय भटनागर की ओर से बीते दिनों अलर्ट भी जारी किया गया था।

 

LEAVE A REPLY

get

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)